पेट की गैस दूर करने के घरेलू उपाय

पेट की गैस दूर करने के घरेलू उपाय

अनियमित खान-पान और लाइफस्टाइल कब्ज का प्रमुख कारण है। अनियमित दिनचर्या और खान-पान के
कारण कब्ज और पेट गैस की समस्या आम बीमारी की तरह हो गई है। कब्ज रोगियों में पेट फूलने की शिकायत भी देखने को मिलती है। लोग कहीं भी और कुछ भी खा लेते हैं। खाने के बाद बैठे रहना, डिनर के बाद तुरंत सो जाना ऐसी आदतें हैं जिनके कारण कब्ज की शिकायत शुरू होती है। पेट में गैस बनने की बीमारी ज्यादातर बुजुर्गों में देखी जाती है मानसिक तनाव, अशांति, भय, चिंता, क्रोध के कारण पाचन अंगों के आवश्यक पाचक रसों का स्राव कम हो जाता है, जिससे अज्रीर्ण(Indigestion) की तकलीफ हो जाती है और अज्रीर्ण का विकृत रूप गैस कि बिमारी पैदा कर देता है। ।

  • भोजन खूब चबा चबा कर आराम से करना चाहिए! बीच बीच में अधिक पानी ना पिएं!
  • नींबू आदि का सेवन अधिक करना चाहिए
  • भोजन के दो घंटे के बाद 1 से 2 गिलास पानी पिएं। दोनों समय के भोजन के बीच हल्का नाश्ता फल आदि अवश्य खाएं।
  • तेल गरिष्ठ भोजन से परहेज करें! भोजन सादा, सात्त्विक और प्राक्रतिक अवस्था में सेवन करने कि कोशिश करें।
  • दिन भर में 8 से 10 गिलास पानी का सेवन अवश्य करें।
  • प्रतिदिन कोई न कोई व्यायाम करने कि आदत जरुर बनाएं! शाम को घूमने जाएं! पेट के आसन से व्यायाम का पूरा लाभ मिलता है। प्राणयाम करने से भी पेट की गैस की तकलीफ दूर हो जाती है।
  • शराब, चाय, कॉफी, तम्बाकू, गुटखा, जैसे व्यसन से बचें।
  • प्राक्रतिक वेगों को रोके रखने कि आदत को छोड़ें जैसे मूत्र या मल।
  • दिन में सोना छोड़ दें और रात को मानसिक परिश्रम से बचें|
  • एक चम्मच अजवाइन के साथ चुटकी भर काला नमक भोजन के बाद चबाकर खाने से पेट कि गैस शीर्घ ही निकल जाती है|
  • अदरक और नींबू का रस एक एक चम्मच कि मात्रा में लेकर थोड़ा सा नमक मिलकर भोजन के बाद दोनों समय सेवन करने से गैस कि सारी तकलीफें दूर हो जाती हैं , और भोजन भो हजम हो जाता है!
  • भोजन करते समय बीच बीच में लहसुन, हिंग, थोड़ी थोड़ी मात्रा में खाते रहने से गैस कि तकलीफ नहीं होती|
  • हरड, सोंठ का चूर्ण आधा आधा चम्मच कि मात्रा में लेकर उसमे थोड़ा सा सेंधा नमक मिलाकर भोजन के बाद पानी से सेवन करने से पाचन ठीक प्रकार से होता है और गैस नहीं बनती!
  • नींबू का रस लेने से गैस कि तकलीफ नहीं होती और पाचन क्रिया सुधरती है!
  • सुबह उठने के बाद नींबू के रस को काला नमक मिलाकर पानी के साथ सेवन कीजिए। इससे पेट साफ होगा। 
  • 20 ग्राम त्रिफला रात को लिटर पानी में भिगोकर रख दीजिए। सुबह उठने के बाद त्रिफला को छानकर उस पानी को पी लीजिए। इससे कुछ ही दिनों में कब्ज की शिकायत दूर हो जाएगी।
  • कब्ज के लिए शहद बहुत फायदेमंद है। रात को सोने से पहले एक चम्मच शहद को एक गिलास पानी के साथ मिलाकर नियमित रूप से पीने से कब्ज दूर हो जाता है। 
  • सुबह उठने के बाद बिना कुछ खाए हुए, 4-5 दाने काजू के और 4-5 दाने मुनक्का के साथ खाइए, इससे कब्ज की शिकायत समाप्त होगी। हर रोज रात में हर्रई को पीसकर बारीक चूर्ण बना लीजिए, इस चूर्ण को कुनकुने पानी के साथ पीजिए। कब्ज दूर होगा और पेट में गैस बनना बंद हो जाएगा। 
  • रात को सोते वक्त अरंडी के तेल को हल्के गरम दूध में मिलाकर पीजिए। इससे पेट साफ होगा। 
  • इसाबेल की भूसी कब्ज के लिए रामबाण दवा है। दूध या पानी के साथ रात में सोते वक्त इसाबेल की भूसी लेने से कब्ज समाप्त होता है। 
  • अमरूद और पपीता कब्ज के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। अमरूद और पपीता को किसी भी समय खाया जा सकता है।
  • पालक का रस पीने से कब्ज की शिकायत दूर होती है, खाने में भी पालक की सब्जी का प्रयोग करना चाहिए।छाछ भी गैस की समस्या से निपटने का एक तरीका हैं इसमें लैक्टिक एसिड होता हैं। दूध से ज्यादा इसमें पचाने की क्षमता ज्यादा होती हैं । छाछ को गैस की समस्या होने पर जरूर पीना चाहिए 
  • गर्म पानी और नींबू का रस मिक्स करके पीने से मतली ,उल्टी या डकार से राहत मिलती हैं । यह रक्त शोधक के रूप में काम करता हैं । सुबह उठकर ताज़ा नींबू पानी पीने से पाचन से जुडी समस्याएं दूर हो जाती हैं ।
  • अदरक पेट की गैस के लिए एक कारगर उपाय हैं । अगर आपका खाना नही पच रहा हैं तो आप तो अदरक चबाएं इससे आपके खाना पचने में मदद मिलेगी, नहीं तो आप सेंधा नमक,अदरक पाउडर और चुटकी भर हींग को मिलाकर आप उसे पानी के साथ खा सकते हैं । खाने में भी आप अदरक डाल सकते हैं या अदरक की चाय भी पी सकते हैं । यह पाचन शक्ति को बढ़ाता हैं और एसिडिटी होने से रोकता हैं ।
  • पेट में गैस के लिए एक और सबसे अच्छा इलाज हैं आलू का रस, खाना खाने से पहले आप आधा कप आलू का रस पी लो । दिन में कम से कम इसे तीन बार पीयें और परिणाम देखें ।
  • लहसुन भी गैस की समस्या से बड़ी राहत प्रदान करता हैं । लहसुन की तीखी गंध और हीटिंग गुणवत्ता उचित पाचन में मदद करती है और गैस से राहत प्रदान करता है जो आमाशय में जलन भी नहीं होने देता । आप गैस से पीड़ित हैं, बेहतर परिणाम के लिए ताजा लहसुन का प्रयोग करें।लहसुन का सूप भी पी सकते हैं । 3 लहसुन, लौंग उन्हें आग पर भुन लें और यह छीलने के बाद इसे खा लें । बेहतर परिणाम के लिए रोज़ाना कम से कम दो या तीन बार इस लहसुन की विधि को अपनाएं ।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.